आग उगलते न्यूज चैनल्स, जहर बाँटते अख़बार,
बहुत हुआ अब बंद करो, नफरत का कारोबार!