कोशिश करे ,
शिकायत नहीं...
Read more...

खुद को शरीफ बस इतना ही रखो, 
जितना आपके साथ दुनिया रहे !
Read more...

गरीब की थाली में पुलाव आ गया है
लगता है शहर में चुनाव आ गया...
Read more...

रामचंद्र कह गये सिया से 
ऐसा कलयुग आएगा,

देश में होगी भुखमरी, बेरोज़गारी
वो उसे ही विकास बतलायेगा
Read more...

पहले हेलीकाप्टर नेता आये
अब हेलीकाप्टर पत्रकारिता आ गई…
विकसित होने का रास्ता या दिवालियापन…
Read more...

प्यार के बिना जीवन उस वृक्ष की तरह है,
जिस पर कभी फल नहीं लगते हैं।
Read more...

तजुर्बा चाहे जितना भी कर लीजिए  ज़िंदगी का साहब
हर एक मोड़ पर नई राह दिखाती है ज़िन्दगी…
Read more...

दरिया आँखों में था फिर भी प्यास रही
ज़िन्दगी भर ज़िन्दगी की तलाश रही
Read more...

हर उम्र में अलग अलग
खिलौने का शौक़ होता है...
Read more...

सइयाँ करें अग्निवीर के नौकरिया
चार साल बाद करिहें मजुरिया..!
Read more...