अल्फ़ाज़ नर्म पड़ गए और लहज़ा बदल गया,

लगता है कुछ ज़ालिमों का इरादा बदल गया…!!