बेवफाओं का घर नही बसता
उनकी सिर्फ महफिलें सजती हैं