वो हमारे परिवार का दुःख कैसे समझेगा 
जिसका अपना कोई परिवार ही नहीं है !