स्त्री तुम्हारी ब्याहता जरूर है ,
पर तुम उसके विधाता नहीं हो